Chaitra Navratri 2020 : आज से चैत्र नवरात्रि शुरू

चैत्र नवरात्रि 25 मार्च से प्रारंभ हो रहे हैं, इस दिन को भारत में गुड़ी पड़वा के रूप में भी मनाया जाता है। नवरात्रि भारत के प्रमुख हिंदू त्योहारों में से एक है। चैत्र नवरात्रि के प्रारंभ से ही भारत में हिंदू नववर्ष की शुरुआत भी हो जाती है। नवरात्रि के सभी 9 दिनों में मां दुर्गा के अलग अलग रूपों की पूजा की जाती है उनसे आशीर्वाद प्राप्त किया जाता है। जो भी सच्चे मन से माता दुर्गा के नवरूपों की पूजा विधि विधान से करते है एवं व्रत रखते है, उन पर माँ की कृपा हमेशा बानी रहती है।

 

माँ दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा उपासना तिथि – 

नवरात्री का प्रथम दिन, प्रतिपदा – 

यह नवरात्री का पहला दिन होता है, इस दिन कलश स्थापना की जाती है, एवं व्रत रखकर माता शैलपुत्री की पूजा की जाती है।

द्वितीय दिन, द्वितीया – 

यह नवरात्री का दूसरा दिन होता है, इस दिन संपूर्ण विधि विधान से माता ब्रम्हचारिणी की पूजा की जाती है।

तृतीय दिन, तृतीया – 

नवरात्री के तीसरे दिन माता चंद्रघंटा की पूजा की जाती है।

चतुर्थ दिन, चतुर्थी – 

यह नवरात्री का चौथा दिन है, एवं इस दिन माता कुष्मांडा की पूजा की जाती है।

पांचवा दिन, पंचमी – 

इस दिन को नवरात्री के पांचवें दिन के रूप में स्कंदमाता की पूजा की जाती है।

छठा दिन, षष्ठी – 

नवरात्री के छठे दिन माता कात्यायनी की पूजा अर्चना की जाती है।

सातवा दिन, सप्तमी –

इस दिन को महासप्तमी भी कहा जाता है, इस दिन माता कालरात्रि की पूजा की जाती है।

आठवां दिन, अष्टमी – 

यह नवरात्री का आठवां दिन है इसे दुर्गाअष्टमी के रूप में मनाया जाता है एवं इस दिन माता महागौरी की पूजा संपूर्ण विधि विधान से की जाती है।

नौवा दिन, नवमी – 

यह नवरात्री का नौवा एवं अंतिम दिन होता है, इस दिन माता सिद्धिदात्री की पूजा की जाती है।

इसी दिन चैत्र शुक्ल नवमी को भगवान श्री राम का जन्म हुआ था इसलिए इसे राम नवमी के रूप में मनाया जाता है।

Share Us

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!